Thursday, May 16, 2024

200+ Best Akelapan Shayari in Hindi | अकेलापन शायरी इन हिंदी

Best Akelapan Shayari in Hindi: Loneliness is a time when a person starts feeling alone. There are many problems in life, but while facing these problems, a person starts thinking of himself as alone. This is a natural quality.

Loneliness is such a feeling in which people very soon make themselves feel empty and lonely. Loneliness is often compared to feeling empty, unwanted and unimportant. A lonely person finds it difficult to build strong interpersonal relationships.

Despite having many people around, you start feeling lonely when you do not get support from other people, do not get support at the time of need. When this happens, a battle is going on inside the mind of the people. Such people keep suffocating inside, when there is no one to listen to that fire going on inside their mind, when no one is found to understand the words of the heart, then people feel lonely.

If you are also feeling lonely and are looking for poetry for loneliness, then you have come to the right place. Here we have shared Best Akelapan Shayari in Hindi,Akelapan Shayari On Hindi,Akelapan Sad Shayari in Hindi,Akelapan Shayari in Hindi 2 Iines,Akelapan Shayari in Hindi Text,Akelapan Shayari in Hindi image,Khamoshi Akelapan Shayari in Hindi, अकेलापन शायरी, 'अकेलेपन' दर्द ए तन्हाई शायरी, अकेलापन सैड शायरी, जिंदगी में अकेलापन शायरी, Mera Akelapan Shayari in Hindi,Akelapan Par Shayari in Hindi,अकेलापन शायरी इन हिंदी,दिल छूने वाली अकेलापन शायरी हिंदी में,रिश्ते में अकेलापन शायरी इन हिंदी,जिंदगी का अकेलापन शायरी हिंदी में, all of you must read this post completely.

Akelapan Shayari in Hindi

Akelapan Shayari in Hindi
Akelapan Shayari in Hindi

अकेलापन क्या होता है यह कोई ताजमहल से पूंछे

देखने के लिए पूरी दुनिया आती हैं मगर रहता कोई नहीं है 


बस एक भूलने का हुनर ही तो नहीं आता

वरना भूलना तो हम भी बहुत कुछ चाहते हैं 


बड़े शौक से छोड़ा था उसने मुझे अपने हाल पर

मगर इन आंखों में शायद अब भी तेरा इंतजार बाकी है


अब नींद से कहो हम से सुलह कर ले फ़राज़

वो दौर चला गया जिसके लिए हम जागा करते थे 


ख़्वाब की तरह बिखर जाने को जी चाहता है

ऐसी तन्हाई कि मर जाने को जी चाहता है 


अजीब है मेरा अकेलापन

ना खुश हूँ ना उदास हूँ

बस खाली हूँ और खामोश हूँ 


कैसे मान लिया तुम अकेले हो

दूर हूँ तुमसे यह मजबूरी है मेरी

पुकारो अगर शिद्दत से मुझको

चला आऊँगा मैं राह में तेरी 


वो अकेला चाँद है आसमा मे जो तेरी तरह है हजारो मे

मगर वो चाँद अकेला है मेरी तरह उन सितारो मे 


अकेलापन एक सज़ा सी है लेकिन 

इसमें जीने में भी अपना अलग ही मज़ा है 


जब से मुझे प्यार में मिली बेवफाई है

तब से मेरी जिंदगी में दर्द और तन्हाई है


जब भी तन्हाई में उनके बगैर जीने की बात आयी

उनसे हुई हर एक मुलाकात मेरी यादों में दौड आई 


किसी को अहसास दिलाने के लिए बिछड़ा न करो

वरना वक़्त उसे आपके बगैर ही जिना सीखा देगा


यह अकेलापन का सफर भी कट जाएगा

जिस दिन गम का बादल हट जाएगा


तकलीफ तो जिंदगी देती हैं 

मौत को तो लोग युही बदनाम करते हैं 


अब मुझे रास आ गया है अकेलापन

अब आप अपने वक्त का अचार डालिए 


ये इश्क जादू टोना है

अगर दिल लगाया है

तो तन्हा भी होना है 


कोसते रहते हैं अपनी जिंदगी को उम्रभर

भीड़ में हंसते हैं मगर तन्हाई में रोया करते हैं


जनाब कैसे मुकम्मल हो उस इश्क़ की दास्तां

जिसकी फितरत में ही अकेलापन होता है 


जनाब जिसको हम जितनी ज्यादा अहमियत देते है ना

एक समय ऐसा भी आता है

जब वही इंसान आपको अकेला

छोड़ कर चला जाता है 


बना-कर रख ले कैदी मुझे तू अपनी चाहत का

बिछड़ के तुमसे जीना अब मुझे गवारा नहीं होता 


शाम-ए तन्हाई में इजाफा बेचैनी

एक तेरा ख्याल न जाना

एक दूसरा तेरा जवाब न आना 


रिश्तों के बाजार में आजकल

वो लोग हमेशा अकेले पाए जाते हैं

जो दिल और जुबान के सच्चे होते हैं 

Akelapan Par Shayari in Hindi

Akelapan Par Shayari in Hindi
Akelapan Par Shayari in Hindi

सुनो तुम्हारे जाने के बाद हम कभी

अकेलापन महसूस ही नहीं कर पायें

क्या करते कमबख्त तनहाईयों को

मोहब्बत जो हो गई है हमसे 


अकेलापन कभी कभी खुद पर

इतना हावी हो जाता है की

वो हमसे कुछ ऐसा करवा देता है कि

जो सोच से भी परे होता है 


कभी सोचा नहीं था वो भी मुझे तनहा कर जाएगी

जो परेशान देख कर अक्सर कहती थी मैं हूँ ना 


बड़े ही हसीन अंदाज से

उसने दिल पर वार किया

पहले प्यार किया फिर

अकेलापन देकर दरकिनार किया


रात ये मुझसेे बहुत मोहब्बत करती है

सब सो जाएं तब अकेले में बात करती है 


किसी ने पूछा अगर कोई अपना

छोड़कर चला जाए तो क्या करोगे

अपना कभी छोड़कर नहीं जाता और

जो जाए वह अपना नहीं होता 


ख्वाब बोया है मैंने और

अकेला पन काटा है

इस प्यार  मोहब्बत में यारो

घाटा ही घाटा है 


इंसान सिर्फ एक कारण से

अकेला पड़ जाता हैं

जब उसके अपने ही उसे

गलत समझने लगते हैं 

Best Akelapan Shayari in Hindi 

Best Akelapan Shayari in Hindi
Best Akelapan Shayari in Hindi 

कौन कहता है जनाब ये अकेलापन खलता है

जब जिंदगी की समझ हो जाए तो खुद का साथ भी भाता है 


आज जो इस अकेलेपन का एहसास हुआ खुद को

तो समभाल नहीं पाया अपने इन आसुओं को 


मेरी तन्हाई को मेरा शौक न समझना

बहुत प्यार से दिया है ये तोहफा किसी ने 


हमारे इस अकेलेपन ने हमें जीना सीखा दिया

बची हमारी ये हँसीं तो उसे हमनें पहले ही भुला दिया 


कई बार वो सोचकर दिल मेरा रो देता है कि

मुझे ऐसा क्या पाना था जो मैंने खुद को भी खो दिया 


मेरा हाल देखकर मोहब्बत भी शर्मिंदा हैं

की ये शख्स सब कुछ हार गया फिर भी जिन्दा हैं 


ख़ुद पर मुझे यक़ीन तो है इतना

कि रोएगा वो सख़्श मुझे फिर से पाने के लिए 


मेरी तन्हाई देखकर उदासियां भी रो पड़ी

जब मुस्कुराने की कोशिश की

तो मेरी गुस्ताखियां रो पड़ी 


प्यार में इंसान तन्हाइयों का शिकार हो जाता है

क्योंकि प्यार का रास्ता 

ही तन्हाइयों से होकर जाता है 


तेरे जाने के बाद मैंने कितनों को

यु आज़माया हैं

मगर कोई भी मेरे इस अकेलेपन को

दूर नहीं कर पाया हैं 

अकेलापन शायरी

अकेलापन शायरी
अकेलापन शायरी

दिल्लगी में दिल लगा बैठे

सारा चैन-ओ-सुकून गंवा बैठे

बहुत देख ली महफिलें इश्क की

अब तन्हाइयों के आगोश में आ बैठे 


हो सकता है हमने आपको कभी रुला दिया

आपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दिया

हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में

क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया


दीप रातों को जलाके रखिये

फूल काँटों में खिलाके रखिये

जाने कब घेर ले अकेलापन

एक दो दोस्त बनाके रखिये


जनाब जिसको हम जितनी ज्यादा

अहमियत देते है ना

एक समय ऐसा भी आता है

जब वही इंसान आपको अकेला

छोड़ कर चला जाता है


तन्हाइयों के घरौंदे में हम बस गए

जो अकेलेपन की दास्तां सुनाई

तो मेरी बातों पर लोग हँस दिए


अब सहारे की कोई बात मत कर

ऐ जालिम जिंदगी

मेरा अकेलापन ही काफी है

मुझे सहारा देने के लिए 


कल भी हम तेरे थे आज भी हम तेरे है

बस फर्क इतना है पहले अपनापन था

अब अकेलापन है


वो दूर का सितारा दूर हो कर भी

अब अपना सा लगता है

क्यूंकि जनाब मेरे इस अकेलेपन को वो

अकेलापन मेहसूस ही नहीं होने देता है


सुन अकेला रहना और अकेलेपन में रहना

वैसा ही होता है जैसे की मुस्कुराना और गम में रहना


तेरे दिल के करीब आना चाहता हूँ मैं

तुझको नहीं और अब खोना चाहता हूँ मैं

अकेले इस तनहाई का दर्द बर्दाश्त नहीं होता

तू एक बार आजा तुझसे लिपट कर रोना चाहता हूँ मै


एक महफ़िल में कई महफ़िलें होती हैं शरीक 

जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा

Akelapan Shayari On Hindi

Akelapan Shayari On Hindi
Akelapan Shayari On Hindi

मेरी तन्हाई देखकर उदासियां भी रो पड़ी

जब मुस्कुराने की कोशिश की

तो मेरी गुस्ताखियां रो पड़ी


तेरे जाने के बाद मैंने कितनों को यु आज़माया हैं

मगर कोई भी मेरे इस अकेलेपन को दूर नहीं कर पाया हैं


इस तरह हम सुकून को महफूज़ कर लेते हैं

जब भी तन्हा होते हैं तुम्हें महसूस कर लेते हैं 


तन्हा दिल, तन्हा सफर

तुम्हारे बिन कटेगी कैसे

तन्हा वक़्त, तन्हा उमर


तुम्हारे करीब हम कुछ

इस तरह आते गये

तन्हाइयों के और नजदीक जाते गये 


ख्वाब बोया है मैंने और

अकेला पन काटा है

इस प्यार  मोहब्बत में यारो

घाटा ही घाटा है 


झूठी मुस्कान मुस्कुराते पूरी उम्र कट जाएगी

महफ़िल की आड़ में तन्हाई कहीं छुप जाएगी


खुद में काबलियत हो 

तो भरोसा कीजिये साहिब

सहारे कितने भी अच्छे 

जो साथ छोड़ जाते है


हाथ ज़ख़्मी हुए तो कुछ अपनी ही खता थी

लकीरों को मिटाना चाहा किसी को पाने की खातिर


आज तन्हाइयो को इश्क़ है हमसे बेपनाह

कभी हम तन्हाई से दो पल की दोस्ती किया करते थे

खामोसी की परछाइया हैं जहा भी देखता हूँ मैं

कभी इन परछाईयो के मुस्कुराते चेहरे हुआ करते थे


तुझे ज़िन्दगी भर याद रखने 

की कसम तो नहीं ली

पर एक पल के लिए तुझे 

भूल जाना भी मुश्किल है


एक चाहत होती है

जनाब अपनों के साथ जीने की

वरना पता तो हमें भी है कि

ऊपर अकेले ही जाना है


सुनो तुम्हारे जाने के बाद हम कभी

अकेलापन महसूस ही नहीं कर पायें

क्या करते कमबख्त तनहाईयों को

मोहब्बत जो हो गई है हमसे


झूठी मुस्कान मुस्कुराते

पूरी उम्र कट जाएगी

महफ़िल की आड़ में

तन्हाई कहीं छुप जाएगी 


इस चार दिन की जिंदगी में

हम अकेले रह गए

मौत का इंतजार करते करते

अकेलेपन से मोहब्बत कर गए


मेरे हाल चाल पूछने पर झल्लाया ना करो ऐ दोस्त

हाल पूछने की कीमत उससे पूछो

जिनसे तन्हाइयों में किसी ने भी

उनका हाल ना पूछा हो


मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है

ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है

देकर वो आपकी आँखों में आँसू

अकेले में वो आपसे ज्यादा रोता है


अब इंतज़ार की आदत सी हो गई है

खामोशी एक हालत सी हो गई है

ना शिकवा ना शिकायत है किसी से

क्यूंकी अब अकेलेपन से मोहब्बत सी हो गई है


किसी को अहसास दिलाने के लिए

बिछड़ा न करो

वरना वक़्त उसे आपके बगैर ही

जिना सीखा देगा


आज जो इस अकेलेपन का एहसास हुआ खुद को

तो समहाल नहीं पाया अपने इन आसुओं को

Akelapan Sad Shayari in Hindi

Akelapan Sad Shayari in Hindi
Akelapan Sad Shayari in Hindi

तन्हाई का एक ऐसा भी आलम है

जो कुछ भी करने को मजबूर कर देता है

ऊपरवाला भी ना जाने क्या चाहता है

क्यों प्यार करने वालो को दूर कर देता है


जब से मुझे प्यार में मिली बेवफाई है

तब से मेरी जिंदगी में दर्द और तन्हाई है


पास आकर सभी दूर चले जाते है

अकेले थे हम अकेले ही रह जाते है

इस दिल का दर्द दिखाये किसे

मल्हम लगाने वाले ही जख्म दे जाते है


तनहाई भी हम से तनहा हो गयी

मजबूरी भी हम से मजबूर हो गयी

बचा क्या था अब जिंदगी में

आखिर में मौत भी हम से बेवफ़ाई कर गयी


दोस्ती की राहो मे कभी अकेलापन ना मिले

ए दोस्त ज़िंदगी मे तुम्हे कभी गम ना मिले

दुआ करते है हम खुदा से

तुम्हे जो भी दोस्त मिले हम से कम ना मिले


रिश्ता हमारा इस जहां में सबसे प्यारा हो

जैसे जिंदगी को सांसों का सहारा हो

याद करना हमें उस पल में

जब तुम अकेले हो और कोई ना तुम्हारा हो


महफ़िल से दूर मैं अकेला हो गया

सूना सूना मेरे लिए हर मेला हो गया


रात ये मुझसे बहुत मोहब्बत करती है

सब सो जाएं तब अकेले में बात करती है


तन्हा दिन तन्हा रातें अकेलेपन में भी

याद आती हैं सिर्फ तेरी बातें

कोशिश कर लूं छुपाने की

पर बाहर आ ही जाती हैं जज़्बातें।


हमारे इस अकेलेपन ने हमें

जीना सीखा दिया

बची हमारी ये हँसीं तो उसे हमनें

पहले ही भुला दिया 


इस चार दिन की जिंदगी में

हम अकेले रह गए

मौत का इंतजार करते करते

अकेलेपन से मोहब्बत कर गए

भीड़ में अकेला शायरी हिंदी में 

भीड़ में अकेला शायरी
भीड़ में अकेला शायरी हिंदी में 

तन्हाई मे अकेलापन सहा ना जाएगा

पर महफ़िल मे अकेला रहा ना जाएगा

उनका साथ ना हो फिर भी जिया जाएगा

पर उनका साथ कोई और हो ये सहा ना जाएगा


एक बार मिला भी मौका किसी की चाहत बन-ने का

लेकिन हम उसे भी गावा बैठे

उसने खुद अपने प्यार का इज़हार किया

लेकिन हम उसके प्यार को ही नकार बैठे


उस समय प्यार से महरूम थे

आज उसे खोने का दर्द दिल को रुलाने लगा है

ज़िंदगी तो खूब जी हमने

पर अब ये अकेलापन सताने लगा है


कल शाम छत पर तुझे क्या देख लिया

के मैं तो मानो खुदा को ही देख लिया

बेखुदी का नशा इस क़दर चढ़के बोला

हमने सिर अपना दीवार से जा फोड़ लिया


दिल्लगी में दिल लगा बैठे

सारा चैन-ओ-सुकून गंवा बैठे

बहुत देख ली महफिलें इश्क की

अब तन्हाइयों के आगोश में आ बैठे


अकेले जीनी है ज़िन्दगी

ये अब मैंने जान ली है

तन्हाइयों से लड़ने की

अब मैंने भी ठान ली है


हर शाम आँखो को तेरा इंतेज़ार रहता है

जिधर से गया था उस और ख़याल रहता है

दिल को अब भी तेरी ज़रूरत बहुत है साथी

आजा लौटके आजा दिल हर दम बेक़रार रहता है


कैसे मान लिया तुम अकेले हो

दूर हूँ तुमसे यह मजबूरी है मेरी

पुकारो अगर शिद्दत से मुझको

चला आऊँगा मैं राह में तेरी


क्या कहें जनाब कि अकेलापन क्यों इतना भाता है

खुद से बातों में अक्सर यू ही वक्त गुज़र जाता है


अकेलापन अब हमे सताता है

दिन मे सपने ओर रातो को जागता है

क्या करेंगी इस खाली इमारत जैसे दिल का हाल जानके,

क्यूंकी अब तो इसे भी अकेलेपन से मोहब्बत सी हो गई है 

Akelapan Shayari in Hindi 2 Lines

Akelapan Shayari in Hindi 2 Lines
Akelapan Shayari in Hindi 2 Lines

हर कोई मुझे जिंदगी जीने का तरीका बताता है

उन्हे कैसे समझाऊ की एक ख्वाब अधुरा है मेरा

वरना जीना तो मुझे भी आता है


शीशे का ये दिल टूट रहा था

हम उन्हे ना ढूँढते तो क्या करते

एहसास हुआ जब हमें उनसे दूर होने का

हम रो कर अपनी आँख ना सुजाते तो क्या करते


मुझे तेरे साथ ही जीना है चाहे तेरा हाथ पकड़ के

या तन्हाई में तेरी यादों से जकड़ के मुझे तेरे साथ ही जीना है


क्यू दिल की बेकरारिया बॅड जाती हैं

जब सामने मनचाहा कोई होता है

धीरे से दिल के कोने मे हसरातो का

एक सेलाब जाने क्यू उमड़ आता है


ज़िन्दगी के कठिनाइयों में नया रास्ता बनाएंगे

अगर कोई साथ ना भी आया तो खुद अकेला

उस रास्ते पर चल जाएंगे


यह अकेलापन का सफर भी कट जाएगा

जिस दिन गम का बादल हट जाएगा


लोग हम से नाराज़ होते हैं 

तो कोई बात नहीं

अगर जिंदगी नाराज़ हो गयी 

तो जीना का मतलब नहीं


हालात की दलील देकर उन्होनें साथ छोङ़ा 

तो हम आहत नहीं हुए 

सोचा हमसे ना सही 

चलो किसी से तो वफ़ा निभाई उन्होने


बहुत तन्हा है हम बस हम है

मेरी कलम है और मेरी तन्हा शायरी है


मेरा अकेलापन ही मेरा साथी हैं

मुझे किसी और की ज़रूरत नहीं

क्या करे किसी से रिश्ता जोड़ कर

जब की मुझे जिंदगी में और दर्द की ज़रूरत नहीं

रिश्ते अकेलापन शायरी

रिश्ते अकेलापन शायरी
रिश्ते अकेलापन शायरी हिंदी में 

प्यार में इंसान

तन्हाइयों का शिकार हो जाता है

क्योंकि प्यार का रास्ता ही

तन्हाइयों से होकर जाता है


बड़े ही हसीन अंदाज से

उसने दिल पर वार किया

पहले प्यार किया फिर

अकेलापन देकर दरकिनार किया


हम अकेले नही रहते अकेलापन साथ आजाता है

हम रोते नही आँखो से दिल का दर्द बयान हो जाता है

अकेला तो चाँद भी रह जाता है तारो की महफ़िल मे

जब मानने वाला खुद ही रूठ जाता है


सितम समझे हुए थे 

हम तेरी बेइंतही को

मगर जब गौर से देखा 

तो एक लुत्फ़-ए-निहा पाया


जाने क्यू अकेले रहने को मजबूर हो गये

यादो के साए भी हमसे दूर हो गये

हो गये तन्हा इस महफ़िल मे

की हमारे अपने भी हमसे दूर हो गये


ये इश्क जादू टोना है

अगर दिल लगया है

तो तन्हा भी होना है


कौन कहता है जनाब ये

अकेलापन खलता है

जब जिंदगी की समझ हो जाए तो

खुद का साथ भी भाता है


आज हम अकेले हैं कभी वो हमारे साथ हुआ करते थे

हमारा हर दिन हर रात हुआ करते थे

उनके जाने से बुझ से गये हैं अब तो

वरना मोहब्बत का सैलाब हुआ करते थे


अकेलापन एक सज़ा सी है

लेकिन इसमें जीने में भी अपना

अलग ही मज़ा है


जिससे चाहते है हुम्म दिल-ओ-जान से

वो करते है हमसे-ए-इश्क़ किसी और से

कैसी दर्द-ए-तकदीर हैं हमारी यारो

जो मार गई जी-ते-जी हुमको

Akelapan Shayari in Hindi Text

Akelapan Shayari in Hindi Text
Akelapan Shayari in Hindi Text

चरागार अपने तो मसरूफ़ बादील है लेकिन

कोई तकदीर के लिखे को मिटा सकते है


बना-कर रख ले कैदी मुझे तू

अपनी चाहत का

बिछड़ के तुमसे जीना अब मुझे

गवारा नहीं होता


मशवरा तो खूब देते हो कि खुश रहा करो

कभी खुश रहने की वजह भी दे दिया करो

हम उनसे नाराज़ होकर दूर जो गए

 

अब अकेलापन सहा नहीं जाता

दिन रात उनकी ही याद सताती है

अब उनके बिना रहा नहीं जाता


बदलेंगे नहीं जज्बात 

मेरे तारीखों की तरह

बेपनाह प्यार करने की 

ख्वाहिश उम्र भर रहेगी


एक चाहत है तुम्हारे साथ जीने की

वर्ना पता तो हमें भी है कि

मरना अकेले ही है


दर्द से हम अभी खेलना सिख गये

हम बेवफ़ाई के साथ जीना सीख गये

क्या बताए किस कदर दिल टूटा है मेरा

मौत से पहले, कफ़न ओढ़ कर सोना सिख गये


वो मुझे तनहा करके

मेरा इम्तिहान लेने लगे

वक्त का पता न चला

हम भी तनहाई से मोहब्बत करने लगे

Alone Sad Shayari

इतनी सी जिंदगी होती है

उतना भी साथ निभा नही पाते

जो जन्म तक साथ रहने का वादा करते है


मेरी खामोशी में बहुत कुछ

छुपा है हम कह नही पाएंगे

और तुम समझ नही पाओगे


अब इंतज़ार की आदत सी हो गई है

खामोशी एक हालत सी हो गई है

ना शिकवा ना शिकायत है किसी से

क्यूंकी अब अकेलेपन से मोहब्बत सी हो गई है


मेरा अकेलापन ही मेरा साथी हैं

मुझे किसी और की ज़रूरत नहीं

क्या करे किसी से रिश्ता जोड़ कर

जब की मुझे जिंदगी में और दर्द की ज़रूरत नहीं


वो दूर का सितारा दूर हो कर भी

अब अपना सा लगता है

क्यूंकि जनाब मेरे इस अकेलेपन को वो

अकेलापन मेहसूस ही नहीं होने देता है


अजीब है मेरा अकेलापन

ना खुश हूँ ना उदास हूँ

बस खाली हूँ और खामोश हूँ


जनाब खुद से खुद की पहचान

करा देता है ये अकेलापन

लोगो के बीच आपकी एक अलग सी

पहचान बना देता है ये अकेलापन


लिखने का कोई शौक नहीं मुझे

बस खुद को यु उलझाए रखा है इसमें

क्योंकि इस अकेलेपन में तो बस

सिर्फ उसकी याद आती हैं

Akelapan Shayari in Hindi  


क्या कहें कि अकेलापन 

क्यों मुझे इतना भाता है

खुद से बातों में अक्सर 

मेरा वक्त गुज़र जाता है


बढ़ती नजदीकियों को अक्सर जुदाई में बदलते देखा है

आज सोचा अपने अकेलेपन से नजदीकी बढ़ा के तो देखूं


जनाब इतने मतलबी भी मत बन जाओ

कि तुम्हें अब दूसरों का अकेलापन भी नजर ना आ पाए

और इतना अच्छा भी मत बन जाओ

कि तुम्हें दूसरों की बुराई भी नजर ना आ पाए

Mera Akelapan Shayari in Hindi 

मेरे अकेलेपन ने भी क्या खूब 

साथ निभाया इस ज़िन्दगी में

कि अब तो आलम ये है 

कि हम दीवारों से भी बातें करते हैं


मेरे अकेलेपन ने भी क्या खूब साथ 

निभाया इस ज़िन्दगी में

कि अब तो आलम ये है कि 

हम दीवारों से भी बातें करते हैं

Akelapan Shayari in Hindi  


अकेलापन क्या होता है 

कोई ताजमहल से पूछे

देखने के लिए पूरी दुनिया आती है 

लेकिन रहता कोई नही


अकेलापन एक सज़ा सी है

लेकिन इसमें जीने में भी 

अपना अलग ही मज़ा है


तन्हाई मे अकेलापन सहा ना जाएगा

पर महफ़िल मे अकेला रहा ना जाएगा

उनका साथ ना हो फिर भी जिया जाएगा

पर उनका साथ कोई और हो ये सहा ना जाएगा


ये अकेलापन सभी को काटता है

पर न कोई इसको बाँटता है

अगर जो कोई चाहे इसको बाँटना

बुरा भला कह कर सब कोई डाँटता है


जनाब जिंदगी में आकेलेपन 

और एहसासों के बड़ा काम होता हैं

जो दूसरे के गमों को अपनाता हैं 

वही इंसान होता हैं

Akelapan Shayari in Hindi  


भीड़ में ये अकेलापन मुझसे मिलने जब आया

क्या है ये अकेलापन मुझे समझ में तब आया


सुन अकेला रहना और 

अकेलेपन में रहना

वैसा ही होता है जैसे की 

मुस्कुराना और गम में रहना


ये अकेलापन क्या होता है

ये उस पेड़ में बचे आखिरी पत्ते से पूछो जारा

जिसने बस पतझड़ के आने की उम्मीद लगा रखी है

जिंदगी में अकेलापन शायरी

ये अकेलापन सभी को काटता है

पर न कोई इसको बाँटता है

अगर जो कोई चाहे इसको बाँटना

बुरा भला कह कर सब कोई डाँटता है


मेरा नसीब अच्छा था जो तेरा दीदार हो गयी 

पहले मैं अकेली थी और अब अकेलेपन की शिकार हो गयी


कौन कहता है जनाब ये 

अकेलापन खलता है

जब जिंदगी की समझ हो जाए 

तो खुद का साथ भी भाता है

Akelapan Shayari in Hindi  


आज जो इस अकेलेपन का एहसास हुआ खुद को

तो समहाल नहीं पाया अपने इन आसुओं को


हमारे इस अकेलेपन ने हमें जीना सीखा दिया

बची हमारी ये हसीं तो उसे हमनें पहले ही भुला दिया


कल भी हम तेरे थे, आज भी हम तेरे है

बस फर्क इतना है

पहले अपनापन था, अब अकेलापन है


लिखने का कोई शौक नहीं मुझे

बस खुद को यु उलझाए रखा है इसमें

क्योंकि इस अकेलेपन में तो 

बस सिर्फ उसकी याद आती हैं


जनाब इतने मतलबी भी मत बन जाओ

कि तुम्हें अब दूसरों का अकेलापन भी नजर ना आ पाए

और इतना अच्छा भी मत बन जाओ

कि तुम्हें दूसरों की बुराई भी नजर ना आ पाए


वो जो दूर का सितारा दूर हो कर भी अपना सा लगता है

क्यूंकि वो मेरे इस अकेलेपन को 

अकेलापन मेहसूस ही नहीं होने देता है

Akelapan Shayari in Hindi  


इंसान चाहे कितना ही खुश क्यों ना 

हो लेकिन जब वो अकेला होता है

तो वो सिर्फ उस इंसान को याद करता है 

जिसे वो दिल से प्यार करता हैं

अकेलापन शायरी इन हिंदी 

ख़ुद में ख़ुद का वजूद ढूंढता हूँ मैं

भीड़ में भी तन्हा समझता हूँ खुद को मैं

बस एक तेरी कमी कुछ ऐसी है ज़िन्दगी में

अब सब कुछ पाकर भी बदनसीब समझता हूँ खुद को मैं 


इश्क़ भूल कर भी मत करना बहुत झमेले है

इश्क़ किया था हमने भी तभी आज अकेले है


हमारे लिए भी कोई शायरी लिखता 

इश्क क्या है ये महसूस कराता

हम भी खो जाते उसके शायरी 

में मुस्करा देते अकेले में

Akelapan Shayari in Hindi  


किसी के दर्द में वो भी अपने ग़मों की झलक पाता है

बूढ़ा, लाचार, इंसान अक्सर अकेला ही रह जाता है


ये वक्त गुजर रहा है तुम भी कुछ पल चुरा लो

कब तक अकेले रहोगे मेरी मानो किसी से तुम भी दिल लगा लो


जनाब खुद से खुद की पहचान करा देता है ये अकेलापन

लोगो के बीच आपकी एक अलग 

सी पहचान बना देता है ये अकेलापन


जनाब जिसको हम जितनी ज्यादा अहमियत देते है ना

एक समय ऐसा भी आता है जब वही

इंसान आपको अकेला छोड़ कर चला जाता है


काफी अकेला हूं मै लेकिन अकेला ही काफी हूं

अगर धोखेबाज होता तो भीड़ होती 

वफादार हूँ इसलिए अकेला हूँ

दिल छूने वाली अकेलापन शायरी इन हिंदी 

अकेलेपन से सीखी है

मगर बात सच्ची है

दिखावे की नजदीकयों से

हकीकत की दूरियाँ अच्छी है

Akelapan Shayari in Hindi  


जाने क्यों लोग सोच लेते हैं

मेरे बारे मे के वो तो खुश है

क्यों नहीं देखते

मेरे चेहरे के पीछे के अकेलेपन को


चलते-चलते अकेले अब थक गए हम

जो मंज़िल को जाये वो डगर चाहिए

तन्हाई का बोझ अब और उठता नहीं

अब हमको भी एक हमसफ़र चाहिए


स्टेशन जैसी हो गयी है ज़िन्दगी

जहां लोग तो बहुत है

पर अपना कोई नहीं


ज़िन्दगी ने कुछ इस तरह का रुख़ लिया

जिसने ज़िस तरफ़ चाहा मुझें मोड दिया

जिसकों जितनी थी ज़रुरत साथ चला और फ़िर

आख़िर में तन्हा छोड दिया

Akelapan Shayari in Hindi  


तुम क्या जानो हम अपने आप

में कितने अकेले है पूछो इन

रातो से जो रोज़ कहती है के

खुदा के लिए आज तो सो जाओ


माना की में बुरा हु सो बुरा होता गया मेरे साथ

पर तुमतो अच्छी थी ना तुमतो कुछ अच्छा कर जाती मेरे साथ


चलते-चलते अकेले अब थक गए हम

जो मंज़िल को जाये वो डगर चाहिए

तन्हाई का बोझ अब और उठता नहीं

अब हमको भी एक हमसफ़र चाहिए

Akelapan Shayari in Hindi  

Also Read😍👇

Judai Shayari in Hindi

Dard Bhari Shayari in Hindi 

Ishq Shayari in Hindi

Khayal Shayari in Hindi 

अकेलापन शायरी

मेरा चेहरा मेरी यादें मेरी बातें रुलायेंगी

जुदाई के दौर में गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी

दिनों को तो चलो बिता भी लोगे फसानों में

जहाँ तन्हा मिलोगे तुम तुम्हें रातें रुलायेंगी


अकेलेपन का भी अपना ही मज़ा है

जो न समझे इसे उसके लिए सजा है

अज़ीब सी तक़दीर लिखीं है मेरी खुदा ने

सफ़र ही सफ़र लिखा है हमसफ़र कोई नहीं


जब तोड़ना ही था तो रिश्ता जोड़ा क्यों

खुशी नहीं दे सकते थे तो हमारा गम से

नाता जोड़ा क्यों


क्या करें बेहद हमें अच्छे लगते हैं वो

झूठी लगती है दुनिया सारी सच्चे लगते हैं वो


भूल सा गया हैं बो मुझे

समज नहीं आ रहा की हम आम हो गए

उनके लिए या कोई खास बन गया है

Akelapan Shayari in Hindi  


तेरी यादों से घिरी है मेरी तनहाईयाँ

मेरे साथ होती है तेरी परछाईयाँ

नहीं गुजरता इक पल भी तेरे बिन

पल पल याद आती है तेरी नादानीयाँ


रास्ते बंट गए मंजिलें

कहीं खो गई

उम्मीदों के समुंदर में

तकदीरे कहीं खो गई

रिश्ते में अकेलापन शायरी इन हिंदी 

मैं सब कुछ बर्दाश्त कर सकता हूं 

मगर तुमसे जुदाई नहीं

इतना कहने के बाद भी 

वो मेरे पास आई नहीं

Akelapan Shayari in Hindi  


चुभते हुए ख्वाबों से कह दो

अब आया न करे, हम तन्हा तसल्ली से रहते है

बेकार उलझाया न करे 


अकेले रहना इतना भी मुश्किल नहीं है

कभी भीड़ से निकल कर उस 

भीड़ को जरा देखिये तो सही


वो हर बार मुझे छोड़ के चले जाते हैं तन्हा

मैं मज़बूत बहुत हूँ लेकिन कोई पत्थर तो नहीं हूँ


लगे हैं इलज़ाम दिल पे जो मुझको रुलाते हैं

किसी की बेरुखी और किसी और को सताते हैं

दिल तोड़ के मेरा वो बड़ी आसानी से कह गए अलविदा

लेकिन हालात मुझे बेवफा ठहराते है

Akelapan Shayari in Hindi  


जगमगाते शहर की रानाइयों में क्या न था

ढूँढ़ने निकला था जिसको बस वही चेहरा न था

हम वही तुम भी वही मौसम वही, मंज़र वही

फ़ासले बढ़ जायेंगे इतने मैंने कभी सोचा न था


अकेलेपन का दर्द भी अजीब होता है

दर्द तो होता है लेकिन दर्द के 

आँसू आँखों से बाहर नहीं आते


फिलहाल जाने दिया उन्हें कुछ नहीं कहा

कुछ बातें समझने से नहीं

खुद पैर बीतने पर समझ आती हैं


कितना अकेला हो जाता है वो शख्स

जिसे जानते तो बहुत लोग है

मगर समझते कोई नही


सब कुछ चेहरे ही बयां करे जरूरी नहीं

कुछ राज आंखें भी छुपा लिया करती है


एक चाहत होती है

जनाब अपनों के साथ जीने की

वरना पता तो हमें भी है कि

ऊपर अकेले ही जाना है


कभी जो हमें देखे बिना

एक पल रहे नहीं पाते थे

आज वक्त कुछ ऐसा है की

अब वो हमारा हाल

जानना भी नहीं चाहते हैं

Akelapan Shayari in Hindi  


कैफ में डूबा हुआ हूँ आलम ए तन्हाई है

फिर तेरी याद दबे पाँव चली आई है

शब ए तारीक पे छाई हुयी रानाई है

यह तेरी ज़ुल्फ़ के साए हैं के परछाई है

तेरे दीवाने को इतना भी अब होश नहीं

ये तेरा आगोश है या गौसा ए तन्हाई है

Contusions

आज का यह पोस्ट Akelapan Shayari in Hindi पढ़ने के लिए सभी लोगों का धन्यवाद। मुझे उम्मीद है कि आपको यह जिंदगी में अकेलापन शायरी, Akelapan Shayari 2 Lines in Hindi, Alone Sad Shayari, अकेला शायरी 2 लाइन attitude पोस्ट पसंद आया होगा. तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ WhatsApp, Facebook और Instagram पर जरूर  शेयर कर सकते हैं धन्यवाद |  

No comments:
Write comment