Thursday, May 16, 2024

200+ Best Bewafa Shayari in Hindi | बेवफा शायरी दिल टूटने वाली

Best Bewafa Shayari in Hindi: दोस्तों जब प्यार की गाड़ी चलते-चलते रुक जाती है तो उस पर सवार प्रेमियों को बहुत दर्द होता है। मतलब अगर आपकी गर्लफ्रेंड आपको धोखा देकर किसी और के साथ चली जाती है। आपसे किये सारे वादे भूलकर वो इतनी पत्थर दिल हो जाती है कि आपका दिल दुखने लगता है. कुछ बेवफा लड़कियाँ गरीब लड़कों और प्रेमियों को दुखी कर देती हैं। 

जब प्यार में बेवफाई मिलती है तो टूटे दिल का क्या हाल होता है, वही दर्द हमने यहां महसूस किया है। Bewafa Shayari in Hindi, Bewafa Shayari in Hindi Text, Mohabbat Bewafa Shayari in Hindi, Bewafa Shayari in Hindi For Gf, Bewafa Shayari in Hindi Status, दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी में, Bewafa Shayari 2 Line in Hindi, New Bewafa Shayari in Hindi, हिन्दी में बेवफा शायरी 2 line, Love Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi for Girlfriend/Boyfriend , दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी में, Bewafa Shayari 2 Line in Hindi के माध्यम से प्रस्तुत किया गया।

Best Bewafa Shayari in Hindi

Bewafa Shayari in Hindi
Bewafa Shayari in Hindi

मजबूरी में जब कोई जुदा होता है जरूरी नहीं कि वो बेवफा होता है

देकर वो आपकी आँखों में आँसू अकेले में आपसे ज्यादा रोता है


तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी

वरना हमको कहाँ तुम से शिकायत होगी

ये तो वही बेवफ़ा लोगों की दुनिया है

तुम भूल भी जाओगे तो रिवायत होगी


गलत लोग तो सभी के जीवन में आते है

लेकिन सीख हमेस सही ही देकर जाते है


हमसे न करिये बातें यूँ बेरुखी से सनम

होने लगे हो कुछ कुछ बेवफा से तुम


हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला

हमको जो भी मिला बेवफा यार मिला

अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी

हर कोई मकसद का तलबगार मिला


इतनी मुश्किल भी ना थी राह मेरी मोहब्बत की

कुछ ज़माना खिलाफ हुआ कुछ वो बेवफा हो गए


तेरी चौखट से सिर उठाऊं तो बेवफा कहना तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना

मेरी वफाओं पे शक है तो खंजर उठा लेना मैं शौक से मर ना जाऊं तो बेवफा कहना


तेरे हुस्न पे तारीफों भरी किताब लिख देता

काश तेरी वफ़ा तेरे हुस्न के बराबर होती


तूने ही लगा दिया इलज़ाम-ए-बेवफाई

अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी


उसने जी भर के मुझको चाहा था

फ़िर हुआ यूँ के उसका जी भर गया


दिल भी गुस्ताख हो चला था बहुत

शुक्र है कि यार ही बेवफा निकला


अच्छा होता जो उनसे प्यार न हुआ होता

चैन से रहते हम जो दीदार न हुआ होता

पहुँच चुके होते हम अपनी मंज़िल पर

अगर एक बेवफा पर ऐतबार न हुआ होता

बेवफा शायरी दिल टूटने वाली

बेवफा शायरी दिल टूटने वाली
बेवफा शायरी दिल टूटने वाली

हर भूल तेरी माफ़ की तेरी हर खता को भुला दिया

गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफाई सिला दिया


उसने महबूब ही तो बदला है फिर ताज्जुब कैसा

दुआ कबूल ना हो तो लोग खुदा तक बदल लेते है


आप बेवफा होंगे सोचा ही नहीं था

आप भी कभी खफा होंगे सोचा नहीं था

जो गीत लिखे थे कभी प्यार में तेरे

वही गीत रुसवा होंगे सोचा ही नहीं था


बेवफा वक़्त था तुम थे या मुकद्दर था मेरा

बात इतनी ही है कि अंजाम जुदाई निकला


मेरी वफा के बदले बेवफाई न दिया कर

मेरी उम्मीद ठुकरा के इन्कार न किया कर

तेरी मोहब्बत में हम सब कुछ गँवा बैठे

जान भी चली जायेगी इम्तिहान न लिया कर


मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़

गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो


ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक है तू सितम कर ले तेरी हसरत जहाँ तक है

वफ़ा की उम्मीद जिन्हें होगी उन्हें होगी हमें तो देखना है तू बेवफ़ा कहाँ तक है


दिल.मारने.वाले आंखों से रोते नहीं हैं

जो अपने नहीं बने हैं वो किसी के नहीं बने हैं

वक्त हमेशा हमें सिखाता है

कि सपने टूटे हैं लेकिन पूरे नहीं होते


फूलों के साथ काँटे नसीब होते हैं

ख़ुशी के साथ ग़म भी नसीब होता है

यूँ तो मजबूरी ले डूबती हर आशिक को

वरना खुशी से बेवफ़ा कौन होता है


बरसों गुजर गए हमने रो कर नहीं देखा

आँखों में नींद थी मगर सो कर नहीं देखा

वो क्या जाने दर्द ए मोहब्बत क्या है

जिसने कभी किसी का होकर नहीं देखा

Bewafa Shayari Hindi Me

Bewafa Shayari Hindi Me
Bewafa Shayari Hindi Me

मैं भूल जाऊंगा कि आप खुद को बेवफा भूल गए हैं लेकिन 

मैं आपको दुनिया के सामने बेवफ कहकर बदनाम नहीं करूंगा


याद न कीया कर तु मुझे बेवफाई करके

साथ छोड़ना ही था तो दिल लगाया क्युं


मेरी तलाश का है जुर्म

या मेरी वफा का क़सूर

जो दिल के करीब आया

वही बेवफा निकला


चाहते हैं वो हर रोज नया चाहने वाला

ऐ खुदा मुझे रोज इक नई सूरत दे दे


मोहब्बत से भरी कोई ग़ज़ल उसे पसंद नहीं

बेवफाई के हर शेर पे वो दाद दिया करते हैं


किसी का रूठ जाना और अचानक बेवफा होना

मोहब्बत में यही लम्हा क़यामत की निशानी है 

 

कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी

कि तुझे अलविदा भी ना कह सका

तेरी सादगी में इतना फरेब था

कि तुझे बेवफा भी न कह सका


जिंदगी का सबसे अच्छा खयाल हो तुम 

इश्क़ और इबादत दोनों में बेमिसाल हो तुम


आज तो अवारस की बिरादरी में शामिल हो गया

ले लो मेरा प्यार भी आज अधूरा रह गया है


कुछ टूटने की खबर आंसू है

हमारे जीवन का अखबार आँसू है

घटनाएं सभी हल्की हैं

फिर भी भारी आँसू निकल रहे हैं


रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लग के वो

ऐसा लगा कि जैसे कभी बेवफा न थे वो


वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे

किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे

हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला

हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे

Mohabbat Bewafa Shayari in Hindi

Mohabbat Bewafa Shayari in Hindi
Mohabbat Bewafa Shayari in Hindi

जो बहुत कम में पीड़ित होते हैं वे बहुत सरल होते हैं

और ये वही हैं जो जीवन में सबसे अधिक पीड़ित होते हैं


कितने आसान लफ्जों मे कह गई 

मुझे सिर्फ दिल ही तोड़ा है कौन सी जान ले ली तेरी


किसी से इतनी उम्मीद न करें कि

आशा के साथ साथ आप भी टूट जाएं


जब तक न लगे एक बेवफाई की ठोकर

हर किसी को अपने महबूब पे नाज़ होता है


तेरी बेवफाई ने हमारा ये हाल कर दिया है

हम नहीं रोते लोग हमें देख कर रोते हैं


मैं खुश था मैं ठीक था जब मैं अकेला था

जब तुम चले गए तुमने मुझे क्यों देखा 


उस के यूँ तर्क ए मोहब्बत का सबब होगा कोई

जी नहीं मानता कि वो बेवफ़ा पहले से था


कुछ अलग ही करना है तो वफ़ा करो दोस्त

बेवफाई तो सबने की है मज़बूरी के नाम पर


मुझे बहुत कम समय में बहुत प्यार

हुआ इसलिए शायद मुझे बहुत

कम समय में बहुत रोना पड़े


न मैं शायर हूँ न मेरा शायरी से कोई वास्ता

बस शौक बन गया है तेरी बेवफाई बयाँ करना


हालांकि हजारों हैं मैं इसमें आपका अपना दीपक हूं

मुझे नहीं पता कि आप मेरे हैं

मैं आपको भी प्यार करने जा रहा हूं


बहोत ख़ामोशी से टूट गया

वो एक भरोसा जो तुझपे था 

Bewafa Shayari in Hindi For Gf 

Bewafa Shayari in Hindi For Gf
Bewafa Shayari in Hindi For Gf 

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी

कभी याद आकर उनकी जुदाई मार गयी

बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने

आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी


जिसे तुम सबसे ज्यादा प्यार करते हो

वह दिन आपके दुख का कारण बनेगा


कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे

हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे

वो तरस जायेंगे प्यार की एक बूँद के लिए

हम तो बादल है प्यार के कहीं और बरस जायेंगे 


किस किस को तू खुदा बनाएगी किस किस की तू हसरतें मिटाएगी

कितने ही परदे डाल ले गुनाहों पे बेवफा तू बेवफा ही नजर आएगी


डूबी है मेरी उंगलिया खुद अपने लहू में

ये कांच के टुकडो को उठाने की सजा है


आज तुम्हारी याद ने मुझे रुला दिया

क्या करूँ तुमने जो मुझे भुला दिया

न करते वफ़ा न मिलती ये सजा

मेरी वफ़ा ने तुझे बेवफा बना दिया


इजाज़त हो तो तेरे चहेरे को देख लूँ जी भर के

मुद्दतों से इन आँखों ने कोई बेवफा नहीं देखा


यु तो कोई भी तनहा नहीं होता

छूट कर किसी से कोई जुदा नहीं होता

मोहब्बत को मज़बूरिया ले डूबती है

वरना ख़ुशी से कोई बेवफा नही होता


एक चेहरा पड़ा मिला आज रास्ते पर मुझे

ज़रूर किरदार बदलते वक़्त उसी का गिरा होगा


मुझको छोड़ने की वजह तो बता देते

मुझसे नाराज थे या मुझ जैसे हजारों थे


मिटा दे उसकी तस्वीर मेरी आँखों से ऐ खुदा

अब तो वो मुझे ख्वाबों में भी अच्छी नहीं लगती

Bewafa Shayari in Hindi Status

Bewafa Shayari in Hindi Status
Bewafa Shayari in Hindi Status

हमें तो कबसे पता था की तू बेवफ़ा है

तुझे चाहा इसलिए की शायद तेरी फितरत बदल जाये

 

सिर्फ तुम्हें ही चाहा और हद से ज्यादा चाहा

बस यही वजह बनी जिन्दगी बरबाद करने की


ये बेवफा  वफा की कीमत क्या जाने 

ये बेवफा गम ए मोहब्बत क्या जाने 

जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर 

वो भला प्यार की कीमत क्या जाने 


अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती

तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती

इस तरह लोग मरने की आरज़ू ना करते

अगर मोहब्बत में बेवफ़ाई ना होती


ये बेवफा वफा की कीमत क्या जाने है बेवफा गम-ऐ-मोहब्बत क्या जाने

जिन्हें मिलता है हर मोड़ पर नया हमसफर वो भला प्यार की कीमत क्या जाने


बेवफायी का मौसम भी अब यहाँ आने लगे है

वो फिर से किसी और को देख कर मुस्कुराने लगे है


जल जल के दिल मेरा जलन से जल रहा

एक अश्क मेरे आँख में मुद्दत से पल रहा

जिसका मैं कर रहा हूँ घुट घुट के इंतजार

वो बेवफा ना आई मेरा दम निकल रहा


वो बेवफा अपनी ज़िंदगी में हुआ मशरूफ इतना

वो किस किस को भूल गया उसे यह भी याद नहीं


दिल किसी से तब ही लगाना जब दिलों को पढ़ना सीख लो

वरना हर एक चेहरे की फितरत में ईमानदारी


दर्द क्या होता है वो बेवफा क्या जाने

उसे तो हर कदम पर वफा ही मिलती है 


एक बार ही कहा होता की

हम किसी और के भी है

खुदा कसम हम तेरे साये से भी दूर रहते


क्या ज़रुरत थी चोट ए बेवफाई की

नादान दिल झूठे वादों में ही खुश था

Bewafai Ki Shayari in Hindi

Bewafai Ki Shayari in Hindi
Bewafai Ki Shayari in Hindi

जरूरी नहीं कि कुत्ता ही वफादार निकले

वक़्त आने पर आपका वफादार भी

कुत्ता निकल सकता है


हम बेवफा है ये ऐलान कर देते है 

चल तेरे काम को हम आसान कर देते है 


इतनी मुश्किल भी ना थी राह मेरी मोहब्बत की

कुछ ज़माना खिलाफ हुआ कुछ वो बेवफा हो गए


भले किसी ग़ैर की जागीर थी वो पर मेरे ख्वाबों की तस्वीर थी वो

मुझे मिलती तो कैसी मिलती किसी और के हिस्से की तकदीर थी वो 


कर के बेवफाई मुस्कुराते हैं वो

दिल टूटता है तो शरमाते हैं वो

जख्म दिल का नहीं देख पाते हे वो

तभी तो इस जहा में दिलरूबा कहलाते हैं वो


मेरी तलाश का है जुर्म या मेरी वफा का क़सूर

जो दिल के करीब आया वही बेवफा निकला


न रहा कर उदास ऐ दिल किसी बेवफा की याद में

वो खुश है अपनी दुनिया मे तेरा सबकुछ उजाड़ के


ये मोहब्बत के हादसे अक्सर दिलों को तोड़ देते हैं 

तुम मंजिल की बात करते हो लोग राहों में ही साथ छोड़ देते हैं


हर भूल तेरी माफ़ की हर खता को तेरी भुला दिया

गम है कि  मेरे प्यार का तूने बेवफा बनके सिला दिया


हर दिल का एक राज़ होता है

हर बात का एक अंदाज़ होता है

जब तक न लग बेवफाई की ठोकर

हर किसी को अपनी प्यार पर नाज़ होता है

 

जिन फूलों को संवारा था हमने अपनी मोहब्बत से

हुए खुशबू के काबिल तो बस गैरों के लिए महके

 दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी में

दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी में
 दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी में

मेरी वफा फरेब थी मेरी वफा पे खाक डाल 

तुझसा ही कोई बावफा तुझको मिले खुदा करे


जब निकले मेरा जनाजा तो खिड़की से झांक लेना

फूल तो बहुत महंगा पड़ेगा पत्थर तो मार देना 


हर ट्राफीक सिग्नल तेरी याद दिलाता है

तूने भी कुछ इस तरह रंग बदले थे


वफ़ा पर हमने घर लुटाना था लेकिन

वफ़ा लौट गयी लुटाने से पहले

चिराग तमन्ना का जला तो दिया था

मगर बुझ गया जगमगाने से पहले


एक तेरी खातिर परेशान हूँ मैं टूटे दिलों की जुबाँ हूँ मैं

तूने ठुकराया जिसको अपनाकर उसी दीवाने का गुमां हूँ मैं


हमारी तरफ अब वो कम देखते हैं

ये वो नजरें नहीं जिनको हम देखते हैं


हर कोई तेरे आशियाने का पता पूछता है

न जाने किस किस से वफा के वादे किये है तूने


नहीं चाहिए कुछ भी तेरी इश्क़ की दूकान से

हर चीज में मिलावट है बेवफाई की 


कभी जो हम से प्यार बेशुमार करते थे

कभी जो हम पर जान निसार करते थे

भरी महफ़िल में हमको बेवफा कहते हैं

जो खुद से ज़्यादा हमपर ऐतबार करते थे


ढूंढ़ तो लेते अपने प्यार को हम शहर में 

भीड़ इतनी भी न थी पर रोक दी तलाश हमने

क्योंकि वो खोये नहीं बदल गए थे


जाते जाते उसने पलटकर सिर्फ इतना कहा मुझसे

मेरी बेवफाई से ही मर जाओगे या मार के जाऊं

Bewafa Shayari 2 Line in Hindi

Bewafa Shayari 2 Line in Hindi
Bewafa Shayari 2 Line in Hindi

हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला

हम को जो भी मिला बेवफा यार मिला

अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी

हर कोई अपने मकसद का तलबगार मिला


धीरे धीरे दूर होते गए वक़्त के आगे मजबूर होते गए

इश्क़ में हमने ऐसी चोट खाई हम बेवफा और वो बेक़सूर होते गए


हर हीरा चमकदार नहीं होता

हर समंदर गहरा नहीं होता

दोस्तो जरा संभल कर प्यार करना

हर खूबसूरत चेहरा वफादार नहीं होता


तुम्ही ने लगा दिया इल्जाम ए बेवफाई मुझ पर

मेरे पास तो वफ़ा के गवाह भी सिर्फ तुम ही तो थे


वो जिनकी आँखों में चमकते थे वफ़ा के 

मोती यकिन मानो वो आँखे भी

आज बेवफा निकली


हो सके तो वक्त पे लौट आना ए बेवफा

वर्ना मेरी साँसो की जगह मेरी राख मिलेगी


कर सकता था मैं भी मोहब्बत तुमसे

पर सोचा की हसीन हो तो बेवफा भी होगी ही

 

कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी

कि तुझे अलविदा भी ना कह सका

तेरी सादगी में इतना फरेब था

कि तुझे बेवफा भी ना कह सका


तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी

वरना हमको कहाँ तुम से शिकायत होगी

ये तो वही बेवफ़ा लोगों की दुनिया है

तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी


पहले इश्क फिर धोखा फिर बेवफ़ाई

बड़ी तरकीब से एक शख्स ने तबाह किया


अच्छा करते हैं वो लोग जो मोहब्बत का इज़हार नहीं करते

ख़ामोशी से मर जाते हैं मगर किसी को बदनाम नहीं करते


नजर उनकी जुबाँ उनकी अजब है कि इस पर भी

नजर कुछ और कहती है जुबाँ कुछ और कहती है

New Bewafa Shayari

New Bewafa Shayari
New Bewafa Shayari

रात की गहरा आँखों में उतर आई

कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई

ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के

कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई


मेरी वफा के क़ाबिल नही हो तुम

प्यार मिले ऐसे इन्सान नही हो तुम

दिल क्या तुम पर ऐतबार करेगा

प्यार मे धोखा दिया ऐसे बेवफा हो तुम


दिल से रोए मगर होंठो से मुस्कुरा बैठे

यूँही हम किसी से वफ़ा निभा बैठे

वो हमे एक लम्हा ना दे पाए अपने प्यार का

और हम उनके लिए अपनी ज़िंदगी गवां बैठे


छोड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में

चल दिए रहने वो औरों की पनाहों में

शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आई

तभी तो सिमट गए वो गैर की बाहों में


मेरी वफा के बदले बेवफाई न दिया कर

मेरी उम्मीद ठुकरा के इन्कार न किया कर

तेरी मोहब्बत में हम सब कुछ गँवा बैठे

जान भी चली जायेगी इम्तिहान न लिया कर


हमने ये सोचा वो वापिस आए हमारी मोहब्बत के लिए

मगर वो बेवफा वापिस आए सिर्फ अपने काम के लिए


नहीं लगेगा उसे देख कर मगर ख़ुश है

मैं ख़ुश नहीं हूँ मगर देख कर लगेगा नहीं


मुझे बेवफाई नहीं चाइये थी

मुझे धोका नहीं चाइये था

मुझे तो बस थोड़ा सा प्यार चाइये था


ये ज्योग्राफिया फ़लसफ़ा साइकोलाॅजी साइंस

रियाज़ी वगैरह ये सब जानना भी अहम है मगर

उसके घर का पता जानते हो

हिन्दी में बेवफा शायरी 2 line

चाहने वालो को यू सताया नही जाता

बेवफाओ को भी यू भुलाया नही जाता

हम तो तुम्हारे ही है,तुम्हारे ही थे

आपनो को यू ज़िंदगी मे तडपाया नही जाता


अब मैंने खुद का धयान रखना शुरू कर दिया है

क्योंकि धयान रखने वाले अब बदल चुके है


लोग तो अपना बना कर छोड देते हैं

कितनी आसानी से गैरों से रिश्ता जोड लेते हैं

हम एक फूल तक ना तोड सके कभी

कुछ लोग बेरहमी से दिल तोड देते हैं

 

तेरी मुस्कान से सुधर जाती है तबीयत मेरी

बताओ न तुम इश्क करती हो या ईलाज


निकाल लाया हूँ एक पिंजरे से इक परिंदा

अब इस परिंदे के दिल से पिंजरा निकालना है

 

शब बसर करनी है महफ़ूज़ ठिकाना है कोई

कोई जंगल है यहाँ पास में सहरा है कोई


बिखरा वज़ूद टूटे ख़्वाब सुलगती तन्हाईया

कितने हसींन तोहफे दे जाती है ये अधूरी मोहब्बत


मोहब्बत से वो देखते हैं सभी को

बस हम पर कभी ये इनायत नहीं होती

मैं तो शीशा हूँ टूटना मेरी फ़ितरत है

इसलिए मुझे पत्थरों से कोई शिकायत नहीं होती


किसी को घर से निकलते ही मिल गई मंज़िल

कोई हमारी तरह उम्र भर सफ़र में रहा


आखिर उसने किसी गैर के दिल की सुनी

मेरी हक़ीकत जाने बिना बेवफा बना दिया हमें

मगर याद करना मेरी वफ़ाएं याद कर  पछताओगे और रोओगे

Love Bewafa Shayari

मोहब्बत करे तो लगता हे जैसे

मौत से भी बड़ी ये एक सज़ा हे जैसे

किस किस से शिकायत करे हम

जब अपनी हे तक़दीर हे बेवफा हो


बिछड़कर उसका दिल लग भी गया तो क्या लगेगा

वो थक जाएगा और मेरे गले से आ लगेगा


तुम्हें हुस्न पर दस्तरस है

मोहब्बत  वोहब्बत बड़ा जानते हो

तो फिर ये बताओ कि तुम उसकी

आंखों के बारे में क्या जानते हो


फुल हो तुम मुरझाना नहीं साथ छोड़ के कभी दूर 

जाना नहीं जब तक हम जिन्दा है अ दोस्त कभी किसी से घबराना नही


अब मुझे तकलीफ़ नहीं होती 

चाहे कोई भी छोड़कर जाए 

क्योंकि  मैंने उन रिश्तों से धोखा खाया है 

जिन पर मुझे नाज़ था 


खबर ये मिली है मुझे कि उन्होंने मुझको अपनी बाहों से

आजाद कर दिया है शायद उनको अब कोई दूसरा कैदी मिल गया है


मत बहा आंसुओं में जिंदगी को एक नए 

जीवन का आगाज़ कऱ दिखानी है 

अगर दुश्मनी की हद तो ज़िक्र भी मत कर

नज़र अंदाज़ कर


कोमल दयालु लगते थे जो हसीन लोग

वास्ता पड़ा तो कठोर और पत्थर के निकले


दर्द मोहब्बत का ऐ दोस्त बहुत खूब होगा

न चुभेगा न दिखेगा बस महसूस होगा


कितनी हसरत थी प्यार को पाने की  मगर इसके अंजाम का नहीं पता था

क्यूंकि ये प्यार वफा करने वाले को  भी बेवफा बना देता है

Bewafa Shayari in Hindi for Girlfriend

मनाने की कोशिश तो बहुत की हमनें

पर जब वो हमारे लफ़्ज ना समझ सके

तो हमारी खामोशियों को क्या समझेंगे


हम गम तन्हाई और जुदाई से मरते रहे

और वो बेवफा बनके चुप बैठे रहे

 

तेरी शान में क्या नज़्म कहूं अल्फ़ाज़ नहीं मिलते

कुछ गुलाब ऐसे होते है जो साख पर नहीं खिलते


सूखे समंदर का कोई किनारा नहीं होता

हमें मिलता नहीं वो जिस पे हक हमारा

नहीं होता, बह जाते हैं वो लहरों की तरह

जिनका कोई सहारा नहीं होता


आकाश मे डूबा एक प्यारा तारा हे

हमको तो किसी की बेवफ़ाई ने मारा हे

हम उनसे अब भी मोहब्बत करते हे

जिसने हमे मौत से भी पहेले मारा हे


वो जो अपना था हुंसे है खफा पता नही किस से हुई थी क्या ख़ाता

बे वजह दिल नही टूट-ता किसी का तुम थे या हम थे बेवफा


घर में भी दिल नहीं लग रहा काम पर भी नहीं जा रहा

जाने क्या ख़ौफ़ है जो तुझे चूम कर भी नहीं जा रहा


क्या बताऊँ मेरा हाल कैसा है

एक दिन गुज़रता है एक साल जैसा है

तड़पता हूँ इस कदर बेवफाई में उसकी

ये तन बनता जा रहा कंकाल जैसा है


ये ज़रूरी नहीं है की हर बात पर तुम मेर कहा मानो

दहलीज पर रख दी है चाहत और अब आगे तुम जानो

Bewafa Shayari in Hindi for Boyfriend 

मैंने अपनी ज़िन्दगी के रस्ते बदल दिए हैं

अब जो हमारे साथ खड़े हैं वही हमारे साथ चलेंगे


अपने दिल को आख़िर दुखाना है

और बहारो मे घर सज़ाना है

तो प्यार अक्सर एक बेवफा से करो

अगर मोहब्बत को आजमाना है


नज़र में रखना कहीं कोई ग़म शनास गाहक

मुझे सुख़न बेचना है ख़र्चा निकालना है


हा मानता हूं बाते कम होती है हमारे दर्मिया

पर वो जब खेरियत पूछते है तो निखर सा जाता हूं


मैं ने मेहनत से हथेली पे लकीरें खींचीं

वो जिन्हें कातिब-ए-तक़दीर नहीं खींच सका


बेवफा है दुनिया किसी का ऐतबार ना करो

हर पल देते है धोका किसी से प्यार ना करो

मिट जाओ बेशाक़ तनहा जी कर

पर किसी के साथ का इंतज़ार ना करो


एक रात रब ने मेरे दिल से पूछा

तू दोस्ती में इतना क्यूँ खोया है

दिल बोला दोस्तों ने ही दी हैं सारी खुशियाँ

वरना प्यार करके तो दिल हमेशा रोया है


मोहब्बत करके देखि तो मोहब्बत को पहचान लिया 

वफ़ा सिर्फ नाम कि बात हे

ये सिर्फ बेवफाई का फ़साना हे

प्यार बेवफाई शायरी

ये मैं अक्सर सोचता हूँ की वो  हमें कैसे भूल गए होंगे

शायद हमें बेवफा मान कर भूलने कीवजह मिल गयी होगी


मेरी मौत के सबब आप बने इस दिल के रब 

आप बने पहले मिसाल थे वफ़ा की

जाने यूँ बेवफ़ा कब आप बने


एक तेरी खातिर परेशाँ हूँ मैं टूटे दिलों की

जुबाँ हूँ मैं तूने ठुकराया जिसको अपनाकर

उसी दीवाने का गुमां हूँ मैं


किसी को बांध के रखना फितरत नही है मेरी

मैं प्रेम का धागा हूँ मजबूरी की ज़ंजीर नही


हर दिल का ज़ख़्म धो लेते हे

आंशु ओ के जाम से इतनी बेवफ़ाई करो की

नफ़रत हो जाए लड़की ओ के नाम से


दिल लगा के दिल तोड़ गयी वो

प्यार का पाठ पढ़ा कर भूल गयी हमें

ओ बेवफाअब किसी से भी दिल मत लगाना 

क्यूंकि वो भी मेरी तरह चैन की सांस ना ले पाएगी

 

वो खून करके मेरे दिल का बेगुनाह कहलाते हे

छेड़कर मेरे ज़ख़्मो को बेशर्मी से मुस्कुराते हे

बड़े बेदर्द होते हे वो हसीन अदा ओ वाले

जो चहेरे से बड़े हे मासूम नज़र आते हे


​बेवफाई उसकी मिटा के आया हूँ

ख़त उसके पानी में बहा के आ

कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों 

इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ


तू भी बेवजह बढ़ रही है ए धूप

इस शहर में पिघलने वाले दिल ही नहीं हैं

2 लाइन बेवफा शायरी इन हिंदी

दिलदार को जब किराएदार समझोगे ते तो वो नया कमरा 

ढूंढ लेगा तुम ना सही किसी और के दिल मे जगह बना लेगा


मेरी वफा के बदले बेवफाई न दिया कर

मेरी उम्मीद ठुकरा के इन्कार न किया कर

तेरी मोहब्बत में हम सब कुछ गँवा बैठे

जान भी चली जायेगी इम्तिहान न लिया कर


वफ़ा के नाम से वोह अनजान थे

किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे

हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला 

हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे


करनी है खुदा से गुजारिश तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले

हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा या फिर कभी जिंदगी न मिले


कभी ये आरज़ू थी कि हर कोई जाने मुझे

आज ये तलब़ है कि गुमनाम ही रहूँ मै


बेचैनी जब भी बढ़ती है धुंए में उड़ा देता हूँ

और लोग कहते हैं मैं सिगरेट बहुत पीता हूँ


नादान होते है वो जो वफा कि तलाश करते है

ये नही सोचते कि अपनी सांस भी एक दिन बेवफा हो जाती है


ए खुदा तूने हम दीवानो का ये कैसा नसीब बनाया है

जितनी खुशिया दूर जाती है उतना ही गम करीब आया है


तुझे उदास होता देख कर

तेरे हर दुःख दर्द लेने को मन करता है

ये मेरा प्यार है जो ये एक दफा नहीं

हजार बार करने को तैयार रहता है

खतरनाक बेवफाई शायरी

मंजिल ए मोहब्बत की राह चुनी है तो जनाब

रास्ते में दुख ए दर्द तो सेहना ही होगा ना


इश्क ए मोहब्बत मे कभी ऐसे तस्वीर भी होगी

हमे क्या पता के किसी बेवफा के लिए 

शायरी भी लिखनी होगी 


बेवफाई उसकी मिटा के आया हूँ

ख़त उसके पानी में बहा के आया हूँ

कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को

इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ


मुझे बहुत अच्छी लगी उसकी ये अदा.

चार दिन इश्क़ मोहब्बत और फिर अलविदा


आग दिल मे लगी जब वो खफा हुए

महसूस हुआ तब जब वो जुदा हुए

कर के वफ़ा कुछ दे ना सके वो

पर बहुत कुछ दे गये जब वो बेवफा हुए


वो अक्सर मुझसे पूछा करती थी

तुम मुझे कभी छोड़ कर तो नहीं जाओगे

काश मैंने भी पूछ लिया होता

 

हसी की राह मे गम मिले तो क्या करे 

वफ़ा के नाम पर बेवफा मिले तो क्या करे 

कैसे बचे ज़िंदगी मे धोके बाजो से

कोई हस के धोका दे तो हम क्या करे


वो दिल की लगी को अदा समजने लगे 

दो पल रुठ के गुज़रे जफ़ा समजने लगे

वो क्या जाने मे कितना रोया उनके बिन

वो बिन सोचे समजे बेवफा समजने लगे


तेरे दिल की महफिल सजाने आए थे

तेरी कसम तुझे अपना बनाने आए थे

ये तो बता किस बात की सजा दी तूने ओ बेवफा

हम तो तेरे दर्द को अपना दर्द बनाने आए थे

लड़कियों के लिए बेवफा शायरी

सिर्फ एक ही बात सीखी इन हुस्न वालों से हमने​​ ​

हसीन जिसकी जितनी अदा है वो उतना ही बेवफा है


प्यार की तरफ को दिखाया नहीं जाता

दिल में लगी आग को बुझाया नहीं जाता

लाख जुदाई हो मगर जिंदगी के पहले 

प्यार को भुलाया नहीं जाता


ये बेवफा, वफा की कीमत क्या जाने

ये बेवफा गम-ए-मोहब्बत क्या जाने

जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर 

वो भला प्यार की कीमत क्या जाने

 

मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ

मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ

पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ

क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ


क्या जानो तुम बेवफाई की हद दोस्तों

वो हमसे इश्क सीखती रही किसी ओर के लिए


धोखा दिया था जब तूने मुझे.जिंदगी से मैं

नाराज था,सोचा  कि दिल से तुझे निकाल

दूं.मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था


बदलना नहीं आता हमें मौसम की तरह

हर एक रूप मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ

ना तुम समझ सको कयामत तक

कसम तुम्हारी तुम्हे इतना प्यार करते है


जहाँ पर नफरतों के खुरदरे दस्तूर होते हैं

वहाँ पर प्यार के किस्से बहुत मशहूर होते है

ये रिश्तों के उजालों में चमकते और बुझते हैं

कहीं ये अश्क होते हैं कहीं सिन्दूर होते हैं

Also Read😍👇

इश्क शायरी हिंदी में

Dhokha Shayari in Hindi

ख्याल शायरी हिंदी में

Bewafa Shayari in Hindi

Khafa Shayari in Hindi 

दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी

दुनियाँ को इसका चेहरा दिखाना पड़ा मुझे

पर्दा जो दरमियां था हटाना पड़ा मुझे

रुसवाईयों के खौफ से महफिल में आज

फिर इस बेवफा से हाथ मिलाना पड़ा मुझे


अब तो है मुझे जिस सच्चे प्यार के लिए

लोग अक्सर तड़पते हैं मैंने वह प्यार

तुम जैसे बेवफा पर लुटाया


वो सुना रहे थे अपनी वफाओ के किस्से

हम पर नज़र पड़ी तो खामोश हो गए


वो बेवफा हर बात पे देता है परिंदों की मिसाल

साफ साफ नहीं कहता मेरा शहर छोड़ दो

Bewafa Shayari in Hindi 

 

यूं ही आंखों से आंसू बहते नहीं

किसी और को हम अपना कहते नहीं

एक तुम ही हो जो रुक से गए हो जिंदगी में

वरना रुकने के लिए हम किसी को कहते नहीं


ऐसा कोई सहर नहीं जहाँ अपनी चली नही

ऐसी कोई गली नहीं जहाँ अपनी चली नहीं


कुछ आदतें पसंद है मेरी,कुछ आदतें खराब

लगती है जब से छोड़ गयी है

वो इसशरीर को सिर्फ शराब लगती है


किसने कहा आप की याद नहीं आती

बिना याद किए कोई रात नहीं आती

वक्त बदल जाता है आदत नहीं जाती

आप खास हो यह बात हर बार तो कहीं नहीं जाती

Contusions

आज का यह पोस्ट  Best Bewafa Shayari in Hindi पढ़ने के लिए सभी लोगों का धन्यवाद। मुझे उम्मीद है कि आपको यह Bewafa Shayari in Hindi, हिन्दी में बेवफा शायरी 2 line, Love Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi for Girlfriend/Boyfriend  पोस्ट पसंद आया होगा. तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ WhatsApp, Facebook और Instagram पर जरूर  शेयर कर सकते हैं धन्यवाद |  

No comments:
Write comment